Sri Sri Ravi Shankar has founded courses that provide techniques and tools to live a deeper, more joyous life. He has established nonprofit organizations that recognize a common human identity above the boundaries of race, nationality and religion. His goal is to uplift people around the globe, to reduce stress, and to develop leaders so that human values can flourish in people and communities.


कोरोना वायरस लॉकडाउन से प्रभावित दिहाड़ी मजदूरों का साथ देने के लिए एक पहल | #iStandwithHumanity - An initiative to support the daily-wage earners affected by the Coronavirus lockdown

आध्यात्मिकता और मानवीय मूल्य


कोरोना वायरस लॉकडाउन से प्रभावित दिहाड़ी मजदूरों का साथ देने के लिए एक पहल | #iStandwithHumanity - An initiative to support the daily-wage earners affected by the Coronavirus lockdown

यह पृष्ठ इन भाषाओं में उपलब्ध है: English मराठी

29 मार्च, 2020
बैंगलूरु, भारत

कोरोना वायरस लॉकडाउन का समर्थन करते हुए मानवता के साथ खड़े होना।

भारत में कोरोना वायरस महामारी के प्रसार को रोकने के लिए, प्रधान मंत्री मोदी ने देशव्यापी बंद का आह्वान किया था।

दिहाड़ी मजदूर और कम आय वाले लोगों की कठिनाइयों का पूर्वानुमान लगा कर गुरुदेव श्री श्री ने उनकी सहायता करने के लिए एक अभियान शुरू किया है। इन लोगों की नौकरी चली गई जिससे इनकी दैनिक आय समाप्त हो गई। जो लोग इन लोगों को भोजन और आर्थिक सहायता प्रदान करने में सक्षम हैं, उन्होंने उन सभी लोगों का आह्वान किया है।

भाषांतरित ट्वीट –

जो सक्षम हैं, मैं उन सभी से आग्रह करता हूँ कि अपने वेतन से कुछ राशि काट कर एक अक्षय निधि का गठन करें और मिलकर अपने क्षेत्र में मजदूरी करने वाले दिहाड़ी मजदूरों और कम कमाने वाले लोगों का ख्याल रखें ताकि आर्थिक बोझ स्थानीय स्तर पर समाज द्वारा साझा किया जा सके। आइए खुद को और दूसरों को आश्वस्त करें कि हर एक का ख्याल रखने के लिए पर्याप्त मानवता है।


भारत के अनेक शहरों में स्थानीय नागरिक निकायों के साथ मिल कर आर्ट ऑफ लिविंग के स्वयंसेवक बड़ी सक्रियता से भोजन और किराने का सामान एकत्र कर लॉकडाउन से प्रभावित दिहाड़ी मजदूरों में वितरित कर रहे हैं।

भाषांतरित ट्वीट –

वापी, गुजरात में आर्ट ऑफ लिविंग स्वयंसेवकों ने तुरंत मिलकर लॉक डाउन आरंभ होने से पूर्व ही दिहाड़ी मजदूरों के परिवारों को एक सप्ताह का राशन एकत्र कर वितरित कर दिया। परंतु अब, लॉकडाउन हो जाने के पश्चात, कृपया बिल्कुल भी बाहर न निकलें। प्राधिकारियों ने ऐसी क्रियाकलापों के लिए कुछ स्वयंसेवकों का चयन किया है।


भाषांतरित ट्वीट –

यह काम शुरू हो गया है लेकिन बहुत कुछ करने की जरूरत है। आर्ट ऑफ लिविंग स्वयंसेवकों ने भोजन के पैकेट तैयार किए हैं और स्थानीय प्रशासन मुंबई और दिल्ली में दिहाड़ी मजदूरों को उनके वितरण में मदद कर रहा है। # iStandWithHumanity

आर्ट ऑफ लिविंग द्वारा मुंबई में दिहाड़ी मजदूरों को खाद्य आपूर्ति किया जा रहा है। आर्ट ऑफ लिविंग के स्वयंसेवकों एवं @mybmc #iStandWithHumanity @ Mybmc # iStandWithHumanity को धन्यवाद।


भाषांतरित ट्वीट –

आर्ट ऑफ लिविंग के स्वयंसेवक दिल्ली में प्रवासी मजदूरों को भी आपूर्ति प्रदान कर रहे हैं।


आय ए एच व्ही (IAHV) और आर्ट ऑफ लिविंग फ़ाउंडेशन द्वारा संयुक्त रूप से मिल कर आरंभ #iStandWithHumanity नामक इस पहल की फ़िल्म और टेलीविज़न क्षेत्र में कार्यरत लोगों ने भी पूरे दिल से समर्थन किया है।

भाषांतरित ट्वीट –

लॉकडाउन के दौरान दिहाड़ी मजदूरों का समर्थन करने के लिए, @ ArtofLiving आर्ट ऑफ लिविंग देश भर में एक लाख परिवारों को 10 दिनों का राशन प्रदान कर रहा है। इस पहल में शामिल होने के लिए मैं फिल्म और टीवी क्षेत्र के लोगों की सराहना करता हूं। योगदान देने के लिए। देखें : http://www.iahv.org/in-en/donate/ #iStandWithHumanity


श्री श्री ने इस पहल के लिए फिल्म और टेलीविजन क्षेत्र में कार्यरत लोगों की सराहना की।

art of living food distribution during covid lockdown to low-income groups and migrant workersart of living food distribution during covid lockdown to low-income groups and migrant workers - 1art of living food distribution during covid lockdown with help of civic bodies to low-income groups and migrant workersart of living food distribution with help of civic bodies during covid lockdown to low-income groups and migrant workers